रेबीज - एक जानलेवा बीमारी

रेबीज एक वायरल रोग है जो मनुष्यों के लिए गंभीर खतरा पैदा करता है। आमतौर पर इसका संचरण संक्रमित जानवर के काटने या खरोंचने से होता है, क्योंकि वायरस उनके लार में मौजूद होता है। आइए रेबीज पर और विस्तृत नज़र डालते हैं:

INFECTIOUS DISEASES

1 मिनट पढ़ें

black and gray dog on brown sands
black and gray dog on brown sands

रेबीज समझना: एक संभावित रूप से घातक वायरस

रेबीज एक वायरल रोग है जो मनुष्यों के लिए गंभीर खतरा पैदा करता है। आमतौर पर इसका संचरण संक्रमित जानवर के काटने या खरोंचने से होता है, क्योंकि वायरस उनके लार में मौजूद होता है। आइए रेबीज पर और विस्तृत नज़र डालते हैं:

रेबीज क्या है?

रेबीज रेबीज वायरस के कारण होने वाला एक वायरल रोग है। यह वायरस मुख्य रूप से संक्रमित जानवरों के लार के माध्यम से फैलता है, जो काटने या खरोंचने से शरीर में प्रवेश करता है। शरीर में संक्रमण के बाद, वायरस दिमाग़ की ओर जाता है।

रेबीज के सामान्य वाहक:

भारत में, रेबीज की स्थिति एक विशिष्ट चुनौती प्रस्तुत करती है। कुछ अन्य क्षेत्रों के विपरीत, जहां विशेष जंगली जानवर वायरस के प्राथमिक वाहक होते हैं, भारत में रेबीज का संचरण मुख्य रूप से पालतू जानवरों, विशेष रूप से कुत्तों से जुड़ा हुआ है। यह देश के विभिन्न हिस्सों में कुत्तों में रेबीज टीकाकरण के कवरेज में भिन्नताओं के कारण है। इसलिए, भारत में समुदायों और अधिकारियों के लिए कुत्तों के लिए व्यापक रेबीज टीकाकरण कार्यक्रमों को प्राथमिकता देना और लागू करना नितांत महत्वपूर्ण है। यह प्रगतिशील दृष्टिकोण देश में मनुष्य और जानवर आबादी को इस घातक वायरस के खतरों से कम करने के लिए महत्वपूर्ण है।

रेबीज के लक्षण और चिह्न:

मनुष्यों में, रेबीज संक्रमण लक्षणों की एक श्रृंखला में नेतृत्व कर सकता है, जिसमें शामिल हैं:

फ्लू जैसे लक्षण: रेबीज के प्रारंभिक लक्षण फ्लू की नकल कर सकते हैं। रोगियों को बुखार, गले में खराश, सिरदर्द, मतली और उल्टी हो सकती है।

व्यवहार में बदलाव: संक्रमित व्यक्तियों में उत्तेजना, उत्साह या असामान्य रूप से बढ़े हुए गतिविधि स्तर दिखाई दे सकते हैं।

त्वचा की संवेदना: कुछ लोगों को अपनी त्वचा पर दर्दनाक या सुनझुनी संवेदना महसूस हो सकती है।

पानी का भय: Rabies हाइड्रोफोबिया का कारण बन सकता है, जो पानी का गहरा भय है, या पानी पीने के विचार से भी दम घुटना।

मांसपेशियों की कमजोरी: रोग के प्रगति के साथ, बांहों और पैरों में कमजोरी हो सकती है, कभी-कभी मूत्र असंयम तक नेतृत्व करती है।

रेबीज से संक्रमित जानवर अजीब व्यवहार प्रदर्शित कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, वे मनुष्यों और अन्य जानवरों पर बिना किसी उकसावे के हमला कर सकते हैं या दिन के समय असामान्य गतिविधि दिखा सकते हैं,

चिकित्सकीय ध्यान देने के लिए कब:

यदि आप:

* किसी भी जानवर, विशेष रूप से चमगादड़, रैकून, स्कंक, लोमड़ी या कोयोट के द्वारा काटे या खरोंचे गए हैं।

* एक चमगादड़ के संपर्क में आते हैं, भले ही आप काटे जाने के बारे में अनिश्चित हों (चमगादड़ के काटने का पता लगाना कठिन हो सकता है)।

* एक कुत्ते, बिल्ली या फेरेट के काटने या खरोंचने का सामना करते हैं जिसके बारे में आपको लगता है कि उसे रेबीज है या जिसकी रेबीज टीकाकरण की स्थिति अज्ञात है।

* आपके खुले घाव का संपर्क उस जानवर से हुआ है जिसे रेबीज हो सकता है।

* आप उन देशों में यात्रा करते हैं जहां रेबीज प्रचलित है और किसी जानवर ने आपको काटा या खरोंचा है।

तो तुरंत डॉक्टर या नर्स से सलाह लें।

क्या रेबीज की रोकथाम की जा सकती है?

हां, रेबीज की रोकथाम त्वरित कार्रवाई के माध्यम से संभव है। यदि किसी जानवर द्वारा काटा जाता है, तो निम्न कदम उठाएं:

* घाव को साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं, भले ही यह झुनझुनी हो। एंटीसेप्टिक जैसे पोविडोन आयोडीन (बेटाडाइन) का भी उपयोग किया जा सकता है।

* तुरंत चिकित्सकीय ध्यान दें। यदि जानवर रेबीज वहन कर सकता है, तो आपको रोकथाम के लिए रेबीज के टीके की आवश्यकता होगी।

अतिरिक्त रोकथाम उपायों में शामिल हैं:

* यह सुनिश्चित करें कि आपके पालतू जानवर रेबीज के खिलाफ नियमित रूप से टीकाकृत हों।

* जंगली जानवरों से संपर्क से बचें, भले ही वे मृत प्रतीत हों।

* उच्च जोखिम वाले व्यक्ति, जैसे कि जानवरों के साथ काम करने वाले या जहां रेबीज प्रचलित है उन क्षेत्रों की यात्रा करने वाले, एक निवारक उपाय के रूप में रेबीज के टीके प्राप्त कर सकते हैं।

रेबीज और गर्भावस्था:

गर्भावस्था के दौरान रेबीज के टीके सुरक्षित होते हैं। यदि आप गर्भवती हैं और संभावित रूप से रेबीज वाले किसी जानवर द्वारा काटी या खरोंची गई हैं, तो तुरंत चिकित्सीय सहायता लें।

लक्षण और उपचार:

मनुष्यों में रेबीज के लक्षणों के प्रकट होने पर, कोई प्रभावी उपचार नहीं है, और रोग लगभग हमेशा घातक होता है। संभावित रेबीज एक्सपोजर के तुरंत बाद चिकित्सकीय सहायता प्राप्त करना महत्वपूर्ण है ताकि लक्षणों की शुरुआत को रोका जा सके। उनके लिए जिनमें लक्षण विकसित हो जाते हैं, चिकित्सकीय देखभाल दर्द और श्वसन कठिनाइयों को कम कर सकती है, लेकिन रोगनिदान अभी भी दुखद बना रहता है।